Categories
Motivational Musings poetry

बातों की समझ

हर बात जानें क्यों,
आखिर में समझ में आती है।
जिस बात में दम नही,
सबसे पहले वो समझ आती है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Friendship Motivational poetry

दोस्ती कोई बंधन नही

दोस्ती कोई बंधन नही,
दो अलग भावनाओं का संगम है।
अरे वो दोस्ती क्या करेगा,
जो ढंग देख कर रंग बदलते हैं।

– मनीषा कुमारी

Categories
Musings poetry

दिल का दर्द

दिल का दर्द,
और शब्दों का अर्थ,
हर कोई नही समझ पाता।
लोग कहते हैं,
जीना आसान है बहोत,
फिर भी कोई कर नही पाता।

– मनीषा कुमारी

Categories
Musings poetry

हमे बेकार बताने लगे

किसी को सहारा क्या दिया,
वो तो हमारे घर को अपना बताने लगे।
मना करने पर बात को,
हमे बेकार बताने लगे।

– मनीषा कुमारी

Categories
Musings poetry

रिश्ता

खत्म होता नही कुछ भी,
खत्म कर दिया जाता है।
लोग पहचान भूलते नही,
बस वक्त अच्छा हो जाता है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings poetry

हमने मंज़िल

हमने मंजिल छोटी चुनी,
तो हम लोगों को छोटे लगने लगे।
वहाँ तक तुम न पहोंच पाए,
तो हम तुम्हे नीच लगने लगे।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

बातों को जाने न दे

जाने न देना,
उन बातों को,
जिन्होंने तुम्हे संभाला है।
हर दिन हर पल,
तुम्हे खुद से मिलाया है।
खुद से मिलना,
मुश्किल है आजकल।
सपना तो दिखावा है,
जाने न देना उन बातों को,
जिन्होंने तुम्हे संभाला है।

मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

समय नही लगता

समय नही लगता
किसी कलम को,
करोड़ों का बनने में।
समय तो बस तब लगता है,
जब इस कलम से
अपनी बात कहनी होती है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Musings

नई कहानी लिख जाते हैं..

नज़र उठा के चलते – चलते,
खुद एक कहानी बन जाते हैं।
नज़र झुका चलो तो,
नई कहानी लिख जाते हैं।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

हमको अपनी तलाश है

सबको सबकी तलाश है,
हमको अपनी तलाश है।
मेहनत का कुआँ खोद के,
हमे पानी की तलाश है।
लोग नही किसी के साथ,
हम हैं अपने साथ ।
यूँ पा लेंगे सब कुछ हम,
रह के खुद के साथ।

– मनीषा कुमारी