Categories
Motivational Musings poetry

मज़ाक बनाने वालों

जिनकी खुद की जिंदगी का कुछ पता नही,
वे हमें जिंदगी जीना सीखा रहे ।
जो खुद न बोल पाते एक शब्द सही से ,
वो हमे बोलना सीखा रहे।
दूसरों का मज़ाक उड़ाने वालों ,
तुम खुद एक मज़ाक ही हो।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational poetry

वो तो एक उजाला है

वो तो एक उजाला है,
नदियों की बहती धारा है,
कभी तेज कभी मंद है।
चिड़ियों की चह – चहाट है,
वो झरने का पानी है,
पेड़ो की हरियाली है ,
कभी सुखी कभी निराली है।
समुन्द्र की गहराई है ,
आसमान की ऊंचाई है,
शक्तियों का उजला है वो ,
ईश्वर के समान है,
वो तो एक अदभुत कला है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational poetry

जिंदगी

शायर हम नही ,

यह जिंदगी बनाती है ।

कवियों को कवि ,

यह हालात बनाती है।

तकदीर बदलती मुसीबतें,

यह सांप सीढ़ी का खेल है।

जाने अनजाने में ,

खेल जाती कई दाव है।

क्या कहे सुख दुख को

यही जिंदगी कहलाती है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational poetry

आज की दोस्ती

दोस्त ने कहा मुझसे ,

और बताओ क्या बात है ।

हमने दोस्त से कहा,

परेशान हु मैं बहोत

तुम बताओ क्या बात है ।

हमारा परेशान शब्द सुन ,

वे बोले चलो फिर कल मिलते है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational poetry

हार न मानना….

अगर कोई तुझे मारे,

तो खा लेना मार।

अगर कोई करे परेशान,

तो हो जाना शांत।

आलोचनाओं से डर कर,

न मानना कभी हार।

लेकिन ले के अपने लक्ष्य को साथ,

बढ़ते रहना आगे हर बार ।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational poetry

चिंता

चिंता खुशी को

खुशी चिंता को

परेशान करती है ।

फिर भी ,रहती संग संग

दोस्ती इनकी निराली है ।

जमाना करता दूर इन्हें

फिर भी ,साथ रहने की इन्होंने ठानी है ।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational poetry

मेहनत किमती है

सफलता किमती है,

यह न मिलती आसानी से,

न मिलती बाज़ारों में,

न व्यर्थ बेठने से |
यह न आती बुलाने पर ,

लोग फिरते मारे ढूँढ़ते इस किमती चीज़ को,

परंतु यह बसा अपने अंदर

जो मिलता पसिना बहाने से |

– मनीषा कुमारी