Categories
Motivational

खुशी

खुशी का माहौल तो,
खुशी से है मिलता है।
खुशी की बातें तो,
खुशी से ही मिलती है।
खुशी वाली बात तो,
खुशी होने से मिलती है।
खुशी खुशी करते तो,
दिन गुजर जाता है।
खुशी का मौका तो,
ढूंढने पे मिलता है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

क्यों न दोस्ती कर लें..

मन को डाँट के रखो,
तो और उलझ जाता है।
क्यों न दोस्ती कर लें,
मन और मैं।
साथ मिल कर्म करे,
साथ मिल घूमें,
साथ मिल पहोंचे,
मंजिल की डगर पर।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

शुरुआत करूँ

चलो शुरुआत में ले चलूँ,
चलो शुरू की कोई बात कहूँ,
बात कोई नई कहूँ,
नई दिन और रात शुरू,
कोई नई शुरूआत करूँ,
न रोऊँ न आलास करूँ,
दिन की शुरुआत करूँ,
शुरुआत से शुरुआत की,
मंजिल की शुरूआत करूँ।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

क्या दुश्मनी है, फूलों से

जानें क्या दुश्मनी है,
फूलों से लोगों को।
जैसे ही खिलने की कोशिश करे,
वैसे ही कोई मसलने आ जाता है।
जब भी कोई खुश हो उसे,
रुलाने आजाता है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

बदनाम हो गई

छोटी सी आग थी कहीं जल रही,
बहोत खुशी से छोटी जगह लहरा रही।
किसी ने आके आग को उकसाया,
तो आग पूरे घर को जला गई।
पूरा घर जल के राख हो गया
और आग दहेक दहेक के रोने लगी,
की आग लगाई किसी और ने थी
और बदनाम ये आग हो गई।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

थोड़ा ठहर जाओ..

कुछ पल रुक कर ठहर भी जाना,
चलते चलते कभी रुक भी जाना।
क्यों निराश है जिंदगी से इतना,
मौका मिले तो बता भी देना।
नही कोई दुश्मनी किसी से
बस दो पल ठहर कर ज़रा सा,
सोंच लेने दो, तुम भी ज़रा
ठहर जाओ जिंदगी तो
चलती रहेगी, ज़रा ठहर कर
अपनों के साथ हो जाओ।
बस थोड़ा ठहर जाओ,
थोड़ा अपनों के साथ मुस्कुराओ।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

संस्कार सीखा रहे..

संस्कारों की बात वो कर रहे,
जिन्हें अपनी संस्कृति तक नही पता।
जिस मुँह से वो संस्कृति का,
गला घोंट चुके हैं।
आज वो उसी मुँह से
संस्कार सीखा रहे।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

पुलों का मार्ग

बेहतर भविष्य के लिए,
निकल पड़े सब राह पर।
ढूंढ रहे दो घाटी के बीच,
पुलों का मार्ग।
कुछ तो हारे मन,
हार मान बैठे।
कुछ लगे खुद से रास्ता बनाने,
कुछ बनाते बनाते मिट गए।
लेकिन जाते जाते बाकी के लिए,
थोड़ा मेहनत कर गए।
सबने मिल कर रास्ता बनाया,
पहोंच गए उस पार।
सच है कहते कि,
मेहनत करने वाले कि
नही होती हार।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

अच्छाइयाँ भी देखी

दुखी तो हम भी हुए थे,
लेकिन गम बस,
कुछ लोगों को दिखा था।
आये थे पूछने पता किसी का
और वो हमारे हो गए।
सच है कि लोग बुरे हैं
दुनिया में, लेकिन
अच्छाइयाँ भी हमने देखी हैं।

– मनीषा कुमारी

Categories
Friendship Motivational

नकल

नकल करनी थी तुम्हे,
जो तुमने अच्छे सी की।
अब जिंदगी की नकल उतारोगे,
जिंदगी का भी अंत होता है।
तब ये नकल भी बंद होगा
नकल तुमने की थी
आगे बढ़ने के लिए
वही नकल तुम्हे,
पीछे कर देगी।
जो लोग तुम्हे आज
नकल के लिए हैं उकसाते,
वही अंत में तुम्हें
कोसते नज़र आएंगे।
बिखर जाओगे तुम
जब अपनों को ही
तुमसे मुँह फेरा देखोगे।

– मनीषा कुमारी