Categories
Motivational

वक्त भी कहेगा

तुम मुझे क्या बिगारोगे,
आज तूम जो वार करोगी,
कल वक्त तुम पर करेगा।
भले साल लग जाये,
वक्त न बदलेगा,
न कभी रुकेगा,
तुम बदलोगी ये तो,
वक्त भी कहेगा।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

मुसीबत

यूँ भागो मत मुसीबत से,
ये मुसीबत भी एक परीक्षा है।
देखो तुमसे कह रही,
दोस्त हूँ मै तेरी।
अगर तूने खुशी से मुझे अपनाया,
तो में रास्ता बन जाऊंगी।
तू मुझे पार कर करके देख,
मैं तेरी मंजिल बंजाऊँगी।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

शुक्रिया केहना है तुम्हे

शुक्रिया केहना है तुम्हे,
की क्या बात सीखा दी तुमने।
हम तो मरने चले थे,
तुमने तो हमे खाई में गिरा के,
जीना सीखा दिया।
तुम्हे क्या लगा कि हम पीछे हटेंगे,
हमतो और आगे बढ़ कर
तुम्हे पीछे करेंगे।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

छोटू हिप्पो

#जिंदगी #जीवन #लोग #कविता #हिंदी #हिन्दीकविता #life #lifepoetry #poetry #poetrylover #poet #poems #hindi #Hindipoetry #writers #writersofinstagram #writersofindia

हिप्पो जो कि बहोत गुस्से और भारी वजन वाला होता है। जो कि पानी के मुकाबले ज़मीन पर धीरे चल पाता है साथ ही इन्हें गुस्सा बहोत जल्दी आता है। लेकिन ये वाला हिप्पो कुछ अलग था। इसे फुर्ती बहोत पसंद थी और दूसरों की मदद करना तो इसे बहोत पसंद था।
लेकिन भले ही इसे फुर्ती पसंद थी लेकिन इसके वजन के कारण छोटू हिप्पो कुछ खास फुर्ती दिखा नही पाता था। उनके हिप्पो झुंड के पास ही एक ज़ेबरा का झुंड रहता था। जो कि बहोत फुर्ती वाले होते हैं। चूंकि हिप्पो परिवार में सभी वजनदार होते हैं इसलिए कुछ जानवर उनका मज़ाक उड़ाते थे। इसलिए छोटू हिप्पो ने चुपके से ज़ेब्रा के बारे में जानना शुरु कर दिया जिससे वो जान सके उन लोगों के फुर्तीला होने का राज क्या है? तभी उसे पता लगा कि उनके फुर्तीले होने का कारण हमेशा भागने का अभ्यास करना है।
ये जानते ही छोटू हिप्पो जल्दी से अपनी मम्मी पापा के पास गया और उनसे हमेशा दौड़ने के अभ्यास के लिए आज्ञा मांगने गया। चूंकि हिप्पो परिवार काफी कडक़ स्वभाव के होते हैं। इसलिए उन्होंने उसे मना कर दिया। लेकिन छोटू हिप्पो ने हार नही मानी और चुपके से भागने का प्रयास करने लगा लेकिन इस करने पर उसकी सेहत बिगड़ गयी। इस बात का जब उसके माँ पापा को लगा तो उन्होंने उसे समझया की सबकी अपनी अपनी फिरती और ताकत होती है। और कई ताकत तो बड़े होने के साथ अपने आप बढ़ती है। हमारा बस मन साफ होने चाहिए। तभी थोड़ा मायूस जरूर हुआ लेकिन वो धीरे धीरे बड़े होते होते सब समझने लगा।
अब वो बड़ा और शक्तिशाली हिप्पो बन चुका था। एक दिन की बात है जब हिप्पो परिवार और बाकी हिप्पो पास के जलाशय में थे तब उनके साथ ज़ेबरा का झुंड भी था जो वहाँ पानी पीने आया था। तभी एक घटना घटी ज़ेबरा के सभी सदस्य पानी पी कर चले गए लेकिन एक ज़ेबरा रह गए। उसे अकेला पा के एक मगरमच्छ उसके करीब आने लगा इस बात का पता उसी तालाब में ठहरे हिप्पो को हो गया। उसे बचाने के लिए वही छोटू हिप्पो आगे बढ़ा और ये वही शरारती ज़ेबरा था जो हिप्पो का मजाक उड़ाता था। लेकिन इसके बारे सोंचे बिना उसने पानी मे जल्दी से भाग कर मगरमच्छ को उधार से भगा दिया और ज़ेबरा की जान बचा ली।
सच में, हमे इससे पता लगता है कि किसी के वजन या फुर्तीले होने या न होने से कोई फर्क नही पड़ता बस मन साफ होने चाहिए और हर किसी के बारे में अच्छा सोंच सके इतनी अच्छी सोच होनी चाहिए।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

चाहा कि नफरत करलू

चाहा कि दुनिया से नफरत करलू
लेकिन नफरत नफरत करके
कितनी नफरत करलू
और भी जिंदगी है,
जो अच्छे बहोत हैं।

तुम किसी से नफरत करोगे
तो किसी को कोई फर्क नही पड़ेगा
एक बार कामयाब हो जाओ
फिर सारे परेशान करने वाले
तुमसे परेशान होंगे करेंगे।

– मनीषा कुमारी

#जिंदगी #जीवन #लोग #कविता #हिंदी #हिन्दीकविता #life #lifepoetry #poetry #poetrylover #poet #poems #hindi #Hindipoetry #writers #writersofinstagram #writersofindia

Categories
Motivational

चलो आगे बढ़े

अब तो सूरज भी देखो उग गया,
अब तो दिन भी शुरू हो गया।
अब तो दिल के सूरज को जगाओ,
अब तो ताजी हवा में, खुद को मिलाओ।
चलो लक्ष्य की तरफ बढ़े,
चलो आज कुछ नया करे।
कुछ नया सीखे,
चलो आगे बढ़े।

– मनीषा कुमारी

#जिंदगी #जीवन #लोग #कविता #हिंदी #हिन्दीकविता #life #lifepoetry #poetry #poetrylover #poet #poems #hindi #Hindipoetry #writers #writersofinstagram #writersofindia

Categories
Motivational

बात

आज कल बात भी बात से डरती है,
ये तो आपस मे ही रंग बदलती है।
आपस में टकराकर ये रास्ता भूल जाते हैं,
ये तो खुद चकराकर खुद घूम जाती है।
गोल गोल घूम कर पृथ्वी को रुक बताती है,
ये तो सिर्फ दिमाग खाती है।
ये तो बहोत पकाती है,
लेकिन ये ज्ञान भी लाती है,
ये तो सब कुछ जानती है।

– मनीषा कुमारी

#जिंदगी #जीवन #लोग #कविता #हिंदी #हिन्दीकविता #life #lifepoetry #poetry #poetrylover #poet #poems #hindi #Hindipoetry #writers #writersofinstagram #writersofindia

Categories
Motivational

स्वस्थ रहो इतना…

स्वस्थ रहो इतना की,
कमजोरी भी आने से डरे।
तंदरुस्त रहो इतना की,
बुढापा भी कमजोर होने से डरे।
बीमार तो नही,
बीमारी भी पास न आये।

– मनीषा कुमारी

#जिंदगी #जीवन #लोग #कविता #हिंदी #हिन्दीकविता #life #lifepoetry #poetry #poetrylover #poet #poems #hindi #Hindipoetry #writers #writersofinstagram #writersofindia

Categories
Motivational

जिंदगी भी भूल करती है

कभी कभी जिंदगी भी भूल जाती है,
हम चाहते कुछ है और कर कुछ देती है।

तूफ़ाँ को मिटा ये मिट्टी कर देती है,
हर जंजीर तोड़ ये छुट्टी कर देती है।

हम अच्छा करे तो अच्छा करती है,
बुरा करे तो बुरा करती है।

लेकिन कभी जिंदगी भी भूल करती है,
हम चाहते कुछ हैं कर कुछ देती है।

– मनीषा कुमारी

#जिंदगी #जीवन #लोग #कविता #हिंदी #हिन्दीकविता #life #lifepoetry #poetry #poetrylover #poet #poems #hindi #Hindipoetry #writers #writersofinstagram #writersofindia


Categories
Motivational

एक दिया काफी था

एक दिया काफी था,
अंधेरों को हटाने के लिए।
और अंधेरा सोंचता रहा,
की वही काफी है सबके लिए।
सूरज को छुपा देने से,
उसकी किरणें नही छुपती।
अंधेरा कितना ही है,
लेकिन किरणे ही है काफी
उन्हें मिटाने के लिए।

– मनीषा कुमारी