Categories
Motivational

जो अपने पास नही….

जो अपने पास है नही,
उसकी चाहत करते हो।
जो तुम्हारे पास है,
उससे क्यों दूर जाते हो।

– मनीषा कुमारी

Categories
Musings

चारों तरफ अंधेरा है…

चारों तरफ अंधेरा है,
सिर्फ एक तरफ रोशनी है।
मीठी सी मुस्कान है,
आँखों में नमी है।
मन की गलियों में बहोत शोर है,
यादों का मेला लगा है।
एक से बढ़ कर एक यादें है,
वो भी सारी पुरानी और बचपन की।
बचपन खत्म हुआ अब तो,
यादों की पहेली बिखरी है देखो।
फिर भी एक मायूसी सी,
दिल को छूती रेहती है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

सब सपने अपने होंगे

रंग बिरंगे सपने मेरे,
सिर्फ देखने से न होंगे पूरे।
मेहनत की राहों पर,
बिछे हैं काँटे।
एक एक करके,
उन्हें उठाना होगा,
तभी साफ ये रास्ता होगा।
ये रंग बिरंगे सपने मेरे,
बिखर न जाये एक ही पल में।
सब सपने होंगे धीरे धीरे पूरे ,
चलेंगे हम अपनी राहों पर,
सब सपने तब अपने होंगे।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

बहोत कुछ कहना है

बहोत कुछ कहना है,
बहोत कुछ सुनाना है।
इस मतलबी जहाँ में,
बहोत कुछ कर दिखाना है।
जबां है कि चलती नही,
मन है कि रुकता नही।
होंसलें भी नही झुके,
तुम्हारी ठोकरों से हम न रुके।
तुम हमे गिराते चले गए ,
और हम बार बार खड़े हुए।
तुम्हारी अदृश्य बेड़ियों से,
हम डरते नही।
जहाँ तक तुम्हारी सोंच थी,
हम उससे आगे निकल गए।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

पत्थर भी रो पड़ा

पत्थर भी रो पड़ा,
ये पत्थर सी दुनिया देख कर।
ये इंसान पत्थर हो गया,
अपना जहां देख कर।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

आज कल के तो मौसम भी….

आजकल तो मौसम भी,
भाव जितना नही बदलता।
पल पल बदलते भाव भी कमाल करते हैं,
पल में हँसाते हैं,
पल में रुलाते है।
कभी इतना उदास करते हैं,
की दुनिया छोड़ने का मन करता है।
कभी इतना उत्साह भरते हैं,
की फिर आगे बढ़ने का जज्बा आजाता है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Musings

कभी हौसला न हुआ

न हिम्मत हुई,
न हौसला हुआ।
जिंदगी में कई बार
भरोसा भी मिला।
न रास्ते रहे,
न उनका भूलना हुआ।
रास्तों पे हमने,
कई कई लोग देखे,
लेकिन उसका न मिलना हुआ,
न बोलना हुआ।
फिर कभी हमे जाने क्यों
कभी हौसला न हुआ।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational

हर इंसान अहम होता है…

हर एक इंसान
तुम्हारी जिंदगी में,
एक अहम हिस्सा होता है।
जो किसी भी पल,
किसी भी दिन,
तुम्हारी जिंदगी में,
सवेरा कर सकता है।

– मनीषा कुमारी

Categories
Motivational Musings

छोटी सी रुकावट

छोटी सी रुकावट से,
जिंदगी रुक जाती है।
हम हैरान है कि,
जिंदगी कैसे पीछे छूट जाती है।
कभी कभी कोई ख्याल से जाता नही,
कभी कभी ख्याल में ही नही आता।
दुनिया के गोले में ख्याल भी घूमता है,
सोंचा था तुमसा कोई नही और
तुम्हारे बिना मेरी कोई मंज़िल नही
एक झटके में किसी ने,
मंज़िल दिख दी।
पास ही थी कहीं
फिर भी ढूंढ न पाई।

– मनीषा कुमारी

Categories
Musings

सफर जारी है तुमसे ही..

जिंदगी की शुरुआत तुमने की थी,
जिंदगी से हारे  तुम थे।
हम यूँ ही आ गए थे,
हमे जिंदगी में लाये तुम थे।
सही कहा है कि,
दिल की बात क्या कहूँ,
कि शुरुआत तुमसे की थी,
और सफर भी जारी है तुमसे।

– मनीषा कुमारी