Categories
Motivational poetry

प्रेम, मोह, लोभ

प्रेम, मोह, लोभ
हमेशा खुदसे आता है।
न तो किसी के
बुलाने से आता है।
न तो किसी के समझाने से आता है।
जब जो होना होता है,
वो हो जाता है।
कभी जल्दी
कभी देर से होता है।
ये सब हमेशा खुदसे आता है…..

– मनीषा कुमारी

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s