Categories
Motivational Musings

सब सपने अपने होंगे

रंग बिरंगे सपने मेरे,
सिर्फ देखने से न होंगे पूरे।
मेहनत की राहों पर,
बिछे हैं काँटे।
एक एक करके,
उन्हें उठाना होगा,
तभी साफ ये रास्ता होगा।
ये रंग बिरंगे सपने मेरे,
बिखर न जाये एक ही पल में।
सब सपने होंगे धीरे धीरे पूरे ,
चलेंगे हम अपनी राहों पर,
सब सपने तब अपने होंगे।

– मनीषा कुमारी

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s